उपलब्धियाँ

 

  • प्रो. हंसराज पाल, प्रो. राजेन्‍द्र पाल एवं डॉ.राकेश देवड़ा की पुस्‍तक ‘’प्रयोगात्‍मक शिक्षा मनोविज्ञान को माननीय राष्‍ट्रपति द्वारा 2013-14 में राष्‍ट्रीय स्‍तर पर सम्‍मानित किया गया।
  • निदेशालय से प्रकाशित पुस्‍तकों की लोकप्रियता का अंदाजा इसी तथ्‍य से लगाया जा सकता है कि ऐसे समय में जबकि प्रकाशन जगत में प्रिंट रन सिकुड़कर 500 से एक हजार के बीच रह गया है, वहीं हमारी कुछ पुस्‍तकें ऐसी हैं जिनकी हम एक वर्ष में 10,000 से अधिक प्रतियाँ प्रकाशित करते हैं, इनमें से कुछ पुस्‍तकें निम्‍नलिखित हैं :

     1. प्राचीन भारत का इतिहास

     2. मध्‍यकालीन भारत भाग-1

     3. मध्‍यकालीन भारत भाग-2

     4. आधुनिक भारत का इतिहास

     5. आजादी के बाद का भारत

निदेशालय ने अब तक समाज विज्ञान तथा मानविकी के विभिन्‍न विषयों इतिहास, राजनीति विज्ञान, शिक्षा शास्‍त्र, दर्शन शास्‍त्र और भूगोल, समाजशास्‍त्र एवं भाषा साहित्‍य समीक्षा आदि विषयों से संबंधित पुस्‍तकें प्रकाशित करने के साथ-साथ संगीत, नृविज्ञान और खेल विषयों से संबंधित भी कुछ पुस्‍तकें प्रकाशित की हैं ।